मुख्यमंत्री के गांव से शुरू होगी चकबंदी

0
358

देहरादून। मुख्यमंत्री के गांव खेरासैन, पौडी गढवाल से चकबंदी की शुरूआत होगी। सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बुधवार को वीर माधो सिंह कृषि भवन में आयोजित राज्य स्तरीय कृषक महोत्सव रबी-2017 के शुभारंभ अवसर पर इसका ऐलान किया। त्रिवेंद्र ने कहा कि चकबंदी से उत्तराखंड में खेती-किसानी में गुणात्मक वृद्धि होगी। उन्होंने कहा कि फसलों को स्टोर करने और सुरक्षित मंडियों तक पहुंचाने के लिए कोल्ड स्टोरेज वैन उपलब्ध कराने की योजना बनाई जा रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने अपने गांववासियों का आह्वान किया था कि चकबंदी शुरू करें, इस पर गांव के लोग सहर्ष तैयार हो गए। वहां चकबंदी की प्रक्रिया शुरु हो गई है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार एक और कदम लेने जा रही है। गरीब लोगों को उनकी राशन का पैसा सीधे उनके खाते में डाल दिया जाएगा। खाद्य घोटाले के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है। इससे अनियमितताएं समाप्त की जा सकेंगी। कृषकों को आधुनिक तकनीक की जानकारी उपलब्ध कराने एवं उनकी आय दोगुनी करने के उद्देश्य से कृषक महोत्सव की शुरुआत हो रही है। उन्होंने कहा कि कृषक महोत्सव में दूर-दूर से हमारे किसान भाई-बहन आए हैं, उन्हें यहां से बहुत कुछ लेकर जाना चाहिए। इस महोत्सव के माध्यम से किसान भाई कृषि से संबंधित उपकरणों की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। खेती कैसे करें….? बीज उत्पादन कैसे करें….? उपकरणों का इस्तेमाल कैसे करें….? इस प्रकार की जानकारी यहां पर किसानों को दी जा रही है। उन्होंने कहा कि कृषि में आधुनिक तकनीकों एवं विधियों का प्रयोग करके निश्चित रुप से किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य पूरा किया जा सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश के किसानों की आय वर्ष 2022 तक दोगुनी करने का जो लक्ष्य रखा है, उसे पूरा करने के लिये किसानों के सहयोग की आवश्यकता है। इसके लिये समर्पण की भी आवश्यकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जंगली जानवरों से फसलों को बचाने के लिये ऐसी फसलों को उगाया जा सकता है, जिन्हें जंगली जानवर नुकसान नहीं पहुंचाते।
कृषि एवं उद्यान मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि कृषक महोत्सव के माध्यम से कृषकों एवं अधिकारियों के बीच संवाद स्थापित हो सकेगा। जो कृषकों के लिये फायदेमंद होगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने किसानों के चेहरे पर खुशहाली लाने के लिये कुछ योजनाएं तैयार की हैं। सेब की खेती को प्रोत्साहित कर के उत्तराखंड की आर्थिकी को सुधारा जाएगा। उन्होंने कहा कि विभिन्न पार्कों का निर्माण कर हॉर्टी-एग्री टूरिज्म को बढ़ावा दिया जाएगा। कोल्ड स्टोरेज एवं कलेक्शन सेंटर तैयार किये जा रहे हैं।
इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने किसान भवन प्रांगण में वीर शिरोमणि माधो सिंह भंडारी की मूर्ति का अनावरण किया। कृषि के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले किसानों को प्रशस्ति-पत्र देकर सम्मानित भी किया। इस अवसर पर विधायक सुरेश राठौर, देशराज कर्णवाल, सचिव कृषि डी.सेंथिल पांडियन, कृषि निदेशक गौरीशंकर समेत कृषि और उद्यान विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY