उत्तर-पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद में शुरू हुए दंगों को तुरंत काबू करने के लिए उच्चस्तरीय मंथन शुरू

0
202

नई दिल्ली,  दिल्ली के उत्तर-पूर्वी इलाकों में सोमवार को हुए हिंसक प्रदर्शन में पुलिस जवान और तीन नागरिक की मौत के बाद गृह मंत्रालय में देर शाम सचिव स्तर की बैठक हुई, जिसमें दिल्ली में सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा हुई। इस बैठक के बाद गृह राज्यमंत्री जी. किशन रेड्डी ने कहा कि केंद्र सरकार दिल्ली में हिंसा बर्दाश्त नहीं करेगी।

अमित शाह ने बुलाई आपात बैठक

उत्तर-पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद में शुरू हुए दंगों को तुरंत काबू करने के लिए उच्चस्तरीय मंथन शुरू हो गया है। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने तमाम आला अधिकारियोंं को इस आपात बैठक में तलब किया है। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अहमदाबाद पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और उनके परिवार के स्वागत समारोह में व्यस्त थे। इसी बीच उन्हें दिल्ली के जाफराबाद, भजनपुरा, मौजपुर, दयालपुर, गोकुलपुरी इलाके में दंगे फैलने की खबर मिली। चूंकि अमेरिकी राष्ट्रपति को सोमवार की रात में दिल्ली में ही हैं। लिहाजा, ऐसे में राजधानी की छवि धूमिल होने से बचाने की जरूरत भी महसूस हुई।

आनन-फानन में उत्तर-पूर्वी दिल्ली जिले में बिगड़े हालात को काबू करने की जिम्मेदारी खुद अमित शाह ने अपने हाथ में ले ली है। आईएएनएस को उच्च पदस्थ सूत्रों से मिली जानाकारी के मुताबिक, सोमवार को शाम ढले केंद्रीय गृहमंत्री ने आनन-फानन में एक आपात बैठक बुलाई। बैठक में केंद्रीय गृह सचिव एके भल्ला सहित दिल्ली के उप-राज्यपाल अनिल बैजल और दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक को सख्त हिदायत दी गई कि किसी भी तरह से जल्दी से जल्दी हालात पर काबू पाएं।

गृह मंत्रालय ने कहा, दिल्ली में स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की यात्रा के दौरान दिल्ली में सीएए के खिलाफ हिसा को गृह मंत्रालय ने गंभीरता से लिया है और पुलिस को अतिरिक्त सहायता देते हुए हिसा को पूरी ताकत के साथ रोकने का निर्देश दिया है। गृहसचिव अजय भल्ला ने स्थिति के पूरी तरह नियंत्रण में होने का दावा करते हुए कहा कि पर्याप्त पुलिस बल के साथ पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर तैनात हैं। संसद मार्ग पर नया दिल्ली पुलिस मुख्यालय राष्ट्रपति भवन और हैदराबाद हाऊस के करीब है, जहां ट्रंप का स्वागत व दोनों देशों के बीच उच्च स्तरीय बातचीत होनी है। वैसे तो सरकार हिसा को ट्रंप की यात्रा से जोड़ने से बच रही है, लेकिन उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार पूरी हिसा सुनियोजित थी और इसका उद्देश्य ट्रंप की यात्रा के दौरान माहौल को खराब करने की थी।

गृह राज्यमंत्री ने कहा- उकसाने की हो रही कोशिश

गृह राज्यमंत्री जी. किशन रेड्डी ने दिल्ली के पुलिस कमिश्नर को दिल्ली के सभी संवेदनशील स्थानों पर अतिरिक्त पुलिस फोर्स के साथ खुफिया टीमों को अलर्ट मोड में रखने का सख्त निर्देश दिया है। उन्होंने राजधानी में हो रही हिंसक घटनाओं पर मीडिया से बातचीत में कहा कि जानबूझकर लोगों को उकसाने की कोशिश हो रही है।

देश की छवि खराब करने की साजिश

लोकतांत्रिक तरीके से लोगों को अपनी भावनाओं को जाहिर करना चाहिए। विरोध के नाम पर पत्थरबाजी, आगजनी और पुलिसवाले की हत्या करना लोकतंत्र की भावना के खिलाफ है। सरकार उसको बर्दाश्त नहीं करेगी। गृहमंत्रालय हालात पर नजर रखे हुए है। ट्रंप के दौरे के समय देश की छवि खराब करने की साजिश रची जा रही।

सोनिया गांधी ने की शांति बनाने की अपील

दिल्ली हिंसा पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बयान जारी किया है। उन्होंने दिल्ली की जनता से शांति बनाए रखने की अपील की है। साथ ही उन्होंने हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल की मौत पर शोक जताया है।

LEAVE A REPLY