पेरिफेरल एक्सप्रेसवे पर ट्रैक्टर मार्च निकाल रहे हैं किसान

0
195

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों को लेकर सरकार के साथ बातचीत के बावजूद हल नहीं निकलने से नाराज किसान आज दिल्ली की सीमाओं और पेरिफेरल एक्सप्रेसवे पर ट्रैक्टर मार्च निकाल रहे हैं। इसके मद्देनजर दिल्ली की सीमाओं पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। सिंघु बॉर्डर पर भारी संख्या में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया।

CM त्रिवेंद्र रावत कोविड- 19 संक्रमण से स्वस्थ होने के बाद लौट आए देहरादून

26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर आयोजित

किसान पहले यह मार्च बुधवार को ही निकालने वाले थे, लेकिन मौसम को देखते हुए इसे एक दिन के लिए टाल दिया गया। किसानों ने कहा है कि यह 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर आयोजित किए जाने वाले ट्रैक्टर मार्च का पूर्वाभ्यास है। बता दें कि किसानों और सरकार के बीच आठ जनवरी की आठवें दौर की बातचीत होनी है। इससे पहले किसानों कृषि कानूनों का विरोध और तेज करने की बात कही है।

Farmers Tractor March Updates

– केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि जिस तरह कम्यूनिस्ट लोग राजनीति के लिए आग में घी डाल रहे हैं। वे नहीं चाहते कि देश में शांति हो। मैं किसान यूनियन के भाईयों से कहना चाहता हूं कि शांति बनाए रखें। सरकार वार्ता के लिए हमेशा तैयार है। कल की तारीख भी तय है। कल निश्चित रूप से समाधान निकलेगा।

– किसानों के प्रदर्शन पर सुप्रीम कोर्ट ने चिंता जताई है। कोर्ट कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका जताई है। केंद्र सरकार से भीड़ को लेकर दिशा-निर्देश जारी करने करने को कहा। कोर्ट ने किसान प्रदर्शन में एकत्र भीड़ पर चिंता जताते हुए कहा कि तबलीगी जमात जैसी स्थिति पैदा हो सकती है।

– केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने गुरुवार को आंदोलन कर रहे किसानों से विरोध मार्च को शांतिपूर्ण रखने की अपील की और जोर देकर कहा कि सरकार कल एक प्रस्ताव को लेकर आशान्वित है।

– हरियाणा: राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिव कुमार कक्का ने कहा कि कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों ने पलवल में ट्रैक्टर रैली की।’हम यहां से सिंघू सीमा की ओर बढ़ेंगे।’

– दिल्ली: बुराड़ी में किसानों के ट्रैक्टर मार्च को देखते हुए सुरक्षा बढ़ा दी गई है। उत्तर-पश्चिम की DCP ने बताया, ‘हमारी टीम तैनात है ताकि कानून-व्यवस्था बनी रहे। हम किसान संगठनों से भी बात कर रहे हैं कि अब तक जैसे उन्होंने शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन किया वैसे आगे भी करते रहें।’

-गाजियाबाद के एडीएम (सिटी) शैलेंद्र कुमार सिंह ने कहा है कि यहां की गाड़ियां नोएडा जाकर वहां से गाज़ीपुर बॉर्डर वापस आएंगी। हमारी तरफ से पूरी व्यवस्था की गई है। हम सभी चीज़ो का वीडियो रिकॉर्ड कर रहे हैं और हम लगातार इनके संपर्क में है।

-हरियाणा: नूंह में किसानों के ट्रैक्टर मार्च को देखते हुए कुंडली-मानेसर-पलवल टोल प्लाज़ा (KMP) पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। सब इंसपेक्टर ने बताया, ‘प्रशासन ने पूरा प्रबंध किया है। किसान रैली का कोई भी ट्रैक्टर KMP पर नहीं चढ़ने दिया जाएगा, टोल पर ही रोक लिया जाएगा।’

गाजीपुर बॉर्डर से किसानों की ट्रैक्टर रैली शुरू

गाजीपुर बॉर्डर से किसानों ने ट्रैक्टर रैली शुरू की। भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि ट्रैक्टर रैली 26 जनवरी की तैयारी है। हमारा रूट यहां से डासना है उसके बाद अलीगढ़ रोड पर हम रुकेंगे वहां लंगर होगा फिर वहां से हम वापस आएंगे और नोएडा वाले ट्रैक्टर पलवल तक जाएंगे।हम सरकार को समझाने के लिए ये कर रहे हैं।

सिंघु बॉर्डर पर भारी संख्या में सुरक्षा बल तैनात

सिंघु बॉर्डर पर किसानों के ट्रैक्टर मार्च को देखते हुए बॉर्डर पर भारी संख्या में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है। सिंघु बॉर्डर पर किसानों का विरोध-प्रदर्शन आज 43वें भी जारी है। एक प्रदर्शनकारी ने बताया,’आज हम लोग ट्रैक्टर रैली करने वाले हैं हमारा रूट यहां से टिकरी बॉर्डर उसके बाद वहां से गाजीपुर बॉर्डर रहेगा। हम अपना हक लेकर ही जाएंगे।’

उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र रावत ने आधी रात को किया ट्वीट

LEAVE A REPLY